जनपद सीईओ को बच्चों के खेलने से परेशानी थी, तो चलवा दिया खेल मैदान में बखर, फिर भी खेलने वाले पहुंचे तो बस्ते सहित पुलिस उठा ले गई - NewsRelic

जनपद सीईओ को बच्चों के खेलने से परेशानी थी, तो चलवा दिया खेल मैदान में बखर, फिर भी खेलने वाले पहुंचे तो बस्ते सहित पुलिस उठा ले गई

Share This

भड़के युवाओं ने किया थाने का घेराव, तब बस्ता मिला और छूटे खिलाड़ी

21 से 30 नवंबर तक इसी मैदान पर होना है मुख्यमंत्री खेल प्रतियोगिताएं

भोपाल। वाकया रायसेन जिले के गैरतगंज का है। स्कूली छात्रों के खेलने से जनपद सीईओ मैडम को परेशानी होती थी, लिहाजा रात में पूरे मैदान में ट्रैक्टर से बखर चलवा दिया। इसके बाद भी छात्र और युवा खेलने पहुंच गए तो पुलिस बय बस्ते के छात्रों को उठा ले गई। इससे भड़के युवाओं और खिलाड़ियों ने थाना घेरा तो पुलिस को छोड़ना पड़ा।  वहीं, इसी मैदान पर 21 से 30 नवंबर तक मुख्यमंत्री कप खेल प्रतियोगिताएं होना है, जिनके आयोजन पर सवालिया निशान लग गए हैं। 

गैरतगंज में एकमात्र खेल मैदान से लगा हुआ जनपद सीईओ पूनम दुबे का  सरकारी आवास है। इसी मैदान पर सीईओ ने बुधवार शाम को ट्रैक्टर से हल चलवाकर खेत बना दिया। इस बारे में सीईओ ने पुलिस और मीडियाकर्मियों से कहा कि बच्चों के खेलने से परेशानी होती थी। बावजूद इसी मैदान की बाकी जगह पर गुरुवार को कुछ छात्र और युवा खेलने पहुंच गए, जिस पर पुलिस पहुंच गई। पुलिस को देखते ही उत्कृष्ट विद्यालय का 16 वर्षीय छात्र प्रकाश लोधी बस्ता छोड़कर भाग निकला, लेकिन दूसरे खिलाड़ी जुबेर मंसूरी को पुलिस पकड़ लिया और थाने ले गई। इसका पता चलते ही खिलाड़ी और युवा थाने पर जमा हो गए, जिसके बाद पुलिस ने बस्ता दिया और जुबेर को छोड़ा। 

सीईओ का कहना-बच्चे करते है परेशान

जनपद पंचायत सीईओ पूनम दुबे का कहना है कि बच्चे खेलते समय उनके कार्य मे व्यवधान डालते है। कभी कांच फोड़ देते है, कभी दीवाल के ऊपर चढ़ने के प्रयास करते है। उनका निवास भी मैदान के पास है तथा यहां शोर शराबा होने से वे परेशान रहती है। वही मैदान में दूसरी तरफ खेलने का कहा गया तो उनके साथ बदतमीजी की गई।

निर्माण और कब्जे की भेंट चढे खेल मैदान 

अमन शर्मा, अम्मू तिवारी, अरशद अंसारी, कुलदीप साहू, सोमेश पटेल आदि ने एसडीएम संघमित्रा बौद्ध को सौंपे ज्ञापन में कहा है कि उत्कृष्ट विद्यालय मैदान पर सरकारी भवन बना दिए गए हैं। थाना ग्राउंड में पेड़ पौधे लगाकर मैदान को खत्म कर दिया, नगर के फील्ड ग्राउंड को कचरा डालकर एवं ईंट भट्टों वालो ने खत्म कर दिया। एक मात्र ब्लाक ग्राउंड था इस पर भी खेलने नहीं दिया जा रहा है। 

मुख्यमंत्री कप पर संकट के बादल

21 से 30 नवंबर तक मुख्यमंत्री कप खेल प्रतियोगिताओ के आयोजन पर संकट के बादल छा गए है। खेल एवं युवा कल्याण विभाग के निर्देशानुसार ब्लाक स्तर पर युवा अभिमान के अंतर्गत मुख्यमंत्री कप का आयोजन होना है। इसमें फुटबाल, कबड्डी, वॉलीवाल, हाइजम्प, लांग जम्प, कुश्ती, एथलेटिक्स आदि होना है। 

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा-बच्चे खेलते रहेंगे

स्वास्थ्य मंत्री और क्षेत्रीय विधायक डॉ. प्रभुराम चौधरी भानपुर में आयोजित कार्यक्रम में जा रहे थे, उनको रोककर छात्रों, युवाओं ने ज्ञापन सौंपते हुए घटना वे वाकिफ करवाया। इस पर डॉ. चौधरी ने कार्रवाई का भरोसा दिलाते कहा बच्चे खेलते रहेंगे। दोनों पक्षों को समझा दिया है। 

अधिकारी हैरान और नाराज

कलेक्टर अरविंद दुबे और एसपी विकास सहवाल सारे मामले को लेकर हैरान और नाराज हैं। जहां कलेक्टर ने सारे मामले की जांच करवाने और सीईओ जनपद से जवाब तलब करने का कहा है तो वहीं, एसपी सहवाल ने भी नाबालिग खिलाड़ियों को थाने लाने पर कार्रवाई का भरोसा दिलाया है।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें