देशव्यापी हड़ताल की पूर्व संध्या पर बैंक कर्मियों ने किया प्रदर्शन - NewsRelic

देशव्यापी हड़ताल की पूर्व संध्या पर बैंक कर्मियों ने किया प्रदर्शन

Share This

निजीकरण के खिलाफ राष्ट्रव्यापी बैंक हड़ताल 19 नवंबर को होगी

भोपाल। बैंकिंग उद्योग में प्रबंधनों के बैंक कर्मियों, उनकी यूनियनों, अधिकारों, नौकरी एवं नौकरियों की सुरक्षा और द्विपक्षीय समझौतों पर बढ़ते हमलों तथा बैंकिंग उद्योग में जंगलराज के विरोध में शनिवार को राष्ट्रव्यापी बैंक हड़ताल का आॅल इंडिया बैंक एंप्लाईज एसोसिएशन ने आव्हान किया है। इसमें देशभर के लाखों बैंक कर्मी अपना एक दिन का वेतन कटवा कर शामिल होंगे और बैंकिंग उद्योग का काम काज ठप्प करेंगे। इसके समर्थन में शुक्रवार शाम को बैंक कर्मियों ने सेंट्रल बैंक के जोनल आॅफिस के सामने प्रदर्शन किया। 

बैंक कर्मियों के प्रदर्शन के बाद हुई सभा को फोरम के वीरेंद्र कुमार शर्मा, नजीर कुरैशी, शितांसु शेखर, दीपक रत्न शर्मा, तपन व्यास, गुणशेखरन, अशोक पंचोली, प्रभात खरे, देवेंद्र खरे, भगवान स्वरूप कुशवाह, इकबाल बहादुर, राजीव उपाध्याय, सत्येंद्र चौरसिया,किशन खैराजानी, सतीश चौबे, श्रीपाद घोटनकर, वैभव गुप्ता, कविता खंडेलवाल, मनीषा मंघरानी, नीतू धमेजा, सविता सिंह, वंशिका चोटरानी वंदिता पटेरिया, रिचा सक्सैना आदि ने संबोधित किया। इनका कहना था कि नई भर्तियों की जगह आउटसोर्सिंग जारी है। नई भर्तियों के अभाव में ग्राहक सेवा के ऊपर प्रतिकूल असर पड़ रहा है। यूनियनों को कमजोर करने के लिए प्रतिनिधित्व के अधिकार को छीना जा रहा है । यूनियन के पदाधिकारियों पर अत्याचार और प्रतिशोधी हमले आम बात हो गई है। बैंक कर्मियों के एक स्थान से दूसरे स्थान पर अनुचित एवं अवैधानिक स्थानांतरण किए जा रहे हैं। द्विपक्षीय समझौतों तथा सहमतिओं का खुले आम उल्लंघन किया जा रहा है। आंदोलनों के दौरान बैंक कर्मियों को यूनियनों से अलग होने की धमकियां दी जा रही है। शनिवार को यूको बैंक जोनल आॅफिस के सामने प्रदर्शन किया जाएगा। 

प्रदर्शनकारियों में अशोक पंचोली, देवेन्द्र खरे, सत्येंद्र चौरसिया, प्रभात खरे, बाबूलाल राठौर, संतोष मालवीय, राम चौरसिया, राज भारती, आदित्य श्रीवास्तव, शैलेश वानखेडे ,राजू टेकाम, विवेक मालवीय,देव सोनगरा, रोशन मिंज, जितेंद्र महावर, अनिल जैन, राजेश विश्वकर्मा, कमलेश बरमैया, संदीप दल्वी ,कृष्णा पांडे , विजयपाल ,दिलीप मोटवानी ,जीत सिंह नागर, प्रदीप कटारिया, ऋषभ मालवीय, जीतू लिखार, आनंद लिखार, शैलेंद्र शीतल, राम कुमार साहू, रवि ठाकुर, रोहित चिंघारियां, शुभम सिंह ठाकुर, शुभांकर,शंकर बुंदेला, राजू देशवाधी,अनिल वेशवर, संजय जरेलिया, विकास बाथम, बालक राम उईके, मोहन कल्याणे, मिलिंद चित्रे, नानक केसवानी, पुरुषोत्तम नाथानी, सुनील देसाई, जगदीश चांदवानी, अनिल जैन, संदीप तिवारी, बजरंग रायकवार, मनीष गुमानी, सुधीर देशपांडे ,विनय नेमा, शाहिद खान, संतोष बवास्कर, ओम प्रकाश बहोत, बी एल पुष्पद, आर एस हथिया, महेश भाई, किशन खैराजानी,कैलाश माखीजानी, तिलक राज सिंह, अवध वर्मा ,प्रदीप कटारिया, आर के निगम, सुदेश कल्याणे, महेंद्र गुप्ता, खालिद सिद्दीकी, अजय जैन, धीरेंद्र राठौर, उषा असनानी ,रूपेंद्र शमी ,रितेश शर्मा, राम आसरे, रितेश शर्मा, वैभव गुप्ता,सनी श्रीवास्तव, सुनील फुलवानी, राकेश कटारे, बी के चौधरी, आशीष शर्मा,लीला किशन कुशवाह, अमित गुप्ता, शैलेंद्र नरवरे, इमरत मुन्ना रायकवार,  संदीप दल्वी,बृजेंद्र सिंह, अभिषेक सिंह, विशाल धमेजा, मंगेश दवांदे, राजीव रंजन सिंह, गोपाल राठौर, सतीश चौबे, अनिल मरोती, रवि वाधवानी, जगदीश राठौर, ज्ञान सिंह, विष्णु शर्मा, रितेश शर्मा,सुदीप विश्नोई, दीपक नाथानी, विमल गोस्वामी, राम आसरे, विनोद डिंगलानी आदि थे।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें