हाईप्रोफाइल उमंग सिंघार केस गिरफ्तारी के लिए पुलिस की टीमें कर रहीं छापेमारी - NewsRelic

हाईप्रोफाइल उमंग सिंघार केस गिरफ्तारी के लिए पुलिस की टीमें कर रहीं छापेमारी

Share This

पीड़िता ने सिंघार को कांग्रेस से निष्कासित करने लिखी सोनिया गांधी को चिट्ठी

भोपाल। दुष्कृत्य के आरोपी पूर्व मंत्री और कांग्रेस विधायक उमंग सिंघार की गिरफ्तारी के लिए पुलिस की टीमें जगह-जगह छापेमारी में जुटी हैं। दूसरी ओर पीड़िता ने कांग्रेस पार्टी की पूर्व अध्यक्षा सोनिया गांधी को लिखे ओपन लेटर में उमंग सिंघार को पार्टी से निष्कासित करने की मांग की है। 

ज्ञात हो कि धार जिले के नौगांव थाने में कांग्रेस विधायक उमंग सिंघार के खिलाफ दुष्कृत्य और अप्राकृतिक कृत्य करने के साथ ही प्रताड़ित करने की एफआईआर उनकी ही पत्नी ने दर्ज करवाई है। इसके बाद धार पुलिस की टीमें आरोपी सिंघार की गिरफ्तारी के लिए सक्रिय हो गई हैं। आरोपी सिंघार की मोबाइल फोन की लोकेशन के अलावा उनके खास समर्थकों और दोस्तों के मोबाइल कॉल पर नजर रखी जा रही है। ताकि आरोपी की गिरफ्तारी हो सके। दूसरी ओर, सिंघार से जुडेÞ सूत्रों का दावा है कि एफआईआर के पीछे सियासी और आर्थिक कारण है, जिसके चलते पहले अग्रिम जमानत करवाने की कोशिश होगी। 

कांग्रेस सरकार में हुआ था संपर्क

ज्ञात हो कि सिंघार के खिलाफ एफआईआर करवाने वाली महिला जबलपुर के गुप्तेश्वर इलाके में रहती है। इस महिला का उमंग सिंघार से प्रदेश में कांग्रेस सरकार बनने के दौरान संपर्क हुआ था। सूत्रों की माने तो इसके बाद महिला ने अपने पहले पति से तलााक भी लिया था। महिला करीब 8 माह से धार में रह रही है और 16 मार्च 22 को उसने उमंग के भोपाल स्थित निवास पर हिन्दू रीति रिवाज से विवाह किया है। उक्त महिला फिलहाल युवा कांग्रेस में राष्ट्रीय सचिव होकर मुंबई की प्रभारी है। 

टीमें बनाई गर्इं

आरोपी उमंग सिंघार की गिरफ्तारी के लिए पुलिस की टीमें बनाई गई हैं। जहां भी संभावित मौजूदगी हो सकती है, वहां-वहां दबिश दी जा रही है। इसको एसपी धार लीड कर रहे हैं। 

               राकेश गुप्ता, पुलिस महानिरीक्षक, इंदौर 

अंकिता भारद्वाज की आत्महत्या में भी लगे थे आरोप

महिलाओं से जुडेÞ विवादों से उमंग सिंघार का पुराना नाता रहा है। पूर्व में उनके वन मंत्री रहते एक महिला उनकी पत्नी होने का दावा करते अपने बेटे को साथ लेकर बंगले पर पहुंच गई थी। महिला का दावा था कि उसके बेटे के पिता उमंग सिंघार ही हैं, लेकिन अब मुकर रहे हैं। बाद में संदिग्ध हालात में महिला ने सिंघार के ही बंगले में आत्महत्या कर ली थी, जिस पर पुलिस ने आत्महत्या के लिए उकसाने के आरोप में केस दर्ज किया था। 

प्रतिमा सिंघार द्वारा सोनिया गांधी को लिखा गया पत्र

                सोनिया गांधी, पूर्व अध्यक्ष, भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस 

आदरणीय महोदया, मैं आपको बहुत दर्द और निराशा में लिख रही हूं कि मेरे साथ उमंग ने कई बार गलत किया है, लेकिन इस बार उन्होंने सभी सीमाओं को पार कर दिया है, मैं अब और बर्दाश्त नहीं कर सकती। आप पार्टी प्रमुख हैं और आपने हमेशा महिलाओं का समर्थन किया है, उनके आंसू पोंछे हैं, आपने हर उस महिला की मदद की है जिसे इसकी आवश्यकता थी, इसलिए मैं आपसे मुझे न्याय दिलाने की उम्मीद करती हूं। उमंग सिंघार ने पहले भी कई अन्य महिलाओं का शोषण किया है, जिनमें से एक ने कथित तौर पर फांसी लगा ली थी या उसकी हत्या कर दी गई थी। इसकी सच्चाई सिर्फ मुझे पता है।

उमंग को महिलाओं की बातचीत रिकॉर्ड करने का शौक है, वह अपनी पूर्व पत्नी के वीडियो और आॅडियो रिकॉर्डिंग करता था, और मेरे साथ भी ऐसा ही किया है, अब वह मुझे ब्लैकमेल कर रहा है। वह धमकी देता है, मारता है, हेरफेर करता है, शोषण करता है, परेशान करता हैं। ऐसे व्यक्ति को पार्टी का हिस्सा नहीं बनना चाहिए। आपको सूचित करना चाहती थी क्योंकि हम दोनों कांग्रेस पार्टी का हिस्सा हैं। मैं राजनीति में आने के बाद से इस पार्टी की सदस्य हूं, मैंने अपना सब कुछ पार्टी को दे दिया है। इसलिए मुझे आपसे और पार्टी से न्याय की उम्मीद है। कृपया उमंग सिंघार को तत्काल निष्कासित करें, ताकि उनके जैसे अपराधियों के खिलाफ एक उदाहरण स्थापित किया जा सके और पार्टी स्वच्छ बनी रहे। 

आपकी बेटी 

          श्रीमती सिंघार, राष्ट्रीय सचिव,  भारतीय युवा कांग्रेस, प्रभारी मुंबई।


सिंघार के आरोप झूठे, मेरे पास सभी साक्ष्य है, सभी मेरे साथ है 

कांग्रेस नेत्री ने कहा, कच्चा चिट्ठा है मेरे पास

कांग्रेस विधायक के खिलाफ दुष्कृत्य और प्रताड़ना की एफआईआर दर्ज करवाने वाली कांग्रेस नेत्री ने खुलासा किया है कि, उसके पास सिंघार के खिलाफ पुख्ता सबूत हैं। उसने अपने पति उमंग सिंघार की प्रताड़ना से मजबूर हो कर रिपोर्ट दर्ज कराईहै। दूसरी ओर, उमंग सिंघार के मांडू में लग्जरी होटल बनाने के लिए अपने नौकर के नाम से जमीन खरीदने का सुराग पुलिस को लगा है। अब इस बेनामी प्रापर्टी को वेरीफाई किया जा रहा है। 

पीड़िता ने मंगलवार को जबलपुर में बताया कि मेरे पास सभी साक्ष्य हैं। मुझे कानून व्यवस्था पर पूरा भरोसा है, मुझ पर झूठे आरोप लगाए गए हैं। लेकिन मुझे पता है कि सभी मेरे साथ हैं और उनका   विश्वास मुझ पर है। यह कहना है शहर में रहने वाली कांग्रेस नेत्री का, जिसने अपने पति विधायक उमंग सिंघार की प्रताड़ना से तंग होकर थाने में एफआईआर दर्ज करार्ई थी। जिसके बाद कांग्रेस नेत्री पर भी विधायक पति ने कई आरोप लगाए हैं। महिला कांग्रेस नेत्री ने बताया कि मेरे पास ऐसे साक्ष्य हंै, जिससे पूरी सच्चाई सामने आ जाएगी। इसके लिए मुझे कुछ साबित करने की जरूरत नहीं है।   

वरिष्ठ नेतृत्व पर पूरा भरोसा  

मामले की शिकायत वरिष्ठ नेताओं से भी की गई है। पार्टी की पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी को पत्र लिखा है। इसमें मुझे पूरा भरोसा है कि वह उचित कार्रवाई करेंगे और मुझे उचित न्याय मिलेगा। मैं इस बात को लेकर अपना एक बयान भी जल्द जारी करने वाली हूँ। जिसमें सभी प्रकार की जानकारियों का उल्लेख होगा।

मांडू में होटल निर्माण के लिए नौकर के नाम खरीदी जमीन

सूत्रों की माने तो कांग्रेस विधायक सिंघार के खिलाफ जांच के दौरान पुलिस को करोड़ों रुपए की बेनामी संपत्ति का भी सुराग लगा है। इसमें मांडू में लग्जरी होटल बनाने के लिए सिंघार ने अपने नौकर के नाम पर प्राइम लोकेशन पर 2.0230 हेक्टेयर जमीन खरीदी है। हालांकि जिस नौकर के नाम पर यह जमीन खरीदी गई है, उसकी आर्थिक स्थिति मांडू में एक प्लाट तक खरीदने की नही है। ऐसे में पुलिस अब इसको वेरीफाई करने में जुटी है, ताकि सिंघार के फरार रहने पर संपत्ति की कुर्की की कार्रवाई में इस जमीन को भी जोड़ा जा सके।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें